नोट :- 1 अप्रैल 2019 से दो वर्षीय कोर्सेज जैसे CMS /DNYS में शुल्क पैकेज 45000/- तथा चार वर्षीय कोर्सेज जैसे BAMS (Nat) आदि 80000/- साईं मिशन (एडवोकेट एम0 रंजन / डॉ0 एन0 कुमार ) डॉ0 रंजन मिश्रा )- 09336104146,9336850868नकली संस्थाओ के बारे मे इसी वेबसाइट में देंखेपरिचय / और संपर्क करें ( CONTACT US ) शुभकामनाये/ लेटर्स देखें /सत्यापन डॉ. डायरेक्ट्री ESSENTIAL DRUG LIST FOR PRIMARY HEALTH CARE / फोटो गैलरी चेतावनी /जाँच के समय /नकली सर्टिफिकेट /नकली संस्थाए कोर्सेस शुल्क /ओन लाइन आवेदन प्रतिनिधि बनने हेतु / REPRESENTATIVE SHIP मेम्बरशिप /अवार्ड्स एलोपैथी CMS , सी0 एम0 ओ0 रजिस्ट्रेशन/सी ० बी ० आई कोर्ट में प्रमाण पत्र व रजिस्ट्रेशन मान्य किया आर0 एम0 पीO रजिस्ट्रेशन, प्रमाण पत्र देखें , – नेचुरोपैथी कोर्सेज योगा पर नए कोर्स

अनुभवी चिक्तिसकों हेतु जल्दी प्रमाण पत्र प्राप्त करने हेतु सभी सूचनाये एक पेज मेंइस समय कोई सरकारी रजिस्ट्रेशन या कोर्स अनुभव द्वारा नहीं होता है , कानूनी तौर पर केवल वही चिकित्सक – मेडिकल प्रैक्टिस कर सकते हैं जिन्होंने सी0 पी0 एम0 टी 0 परीक्षा पास करके 5 साल का रेगुलर कोर्स किया है जैसे :- एमबीबीएस , BAMS , आदि केवल यही डॉक्टर चिकित्सा कार्य कर सकते है , किसी अन्य – अनुभवी या डिप्लोमा धारी डॉक्टर को आज की तारीख में मेडिकल प्रैक्टिस करने का कोई कानूनी अधिकार नहीं है– जो डॉक्टर्स अनुभव बेस पर मेडिकल प्रैक्टिस कर रहे हैं ऐसे सभी अनुभवी डॉक्टर- माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय और सरकारी आदेश को आधार बनाकर – सीएमएस का कोर्स तथा नेचुरोपैथी के कोर्स करके जनरल प्रैक्टिस कर सकते है सीएमओ ऑफिस में रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर सकते है अल्टरनेटिव / आरडीएस /आरएमपी(ए ० एम ० )से एलोपैथिक / प्रमाण पत्र प्रैक्टिस करने हेतु मान्य नहीं है इसलिए इन प्रमाण पत्रो की जगह नेचुरोपैथी में प्रशिक्षण प्रमाण पत्र प्राप्त कर समाज को हानिरहित व अच्छी सेवाए दे सकते है। , कुछ न होने से कुछ होना अच्छा है। आवेदन पत्र हेतु इसी वेबसाइट से डाउनलोड करके अर्थात प्रिंटआउट निकालकर रजिस्ट्री से व्हाट्सएप या ईमेल से हमारे पते पर भेज दे शुल्क खाते में जमा कर दे या ट्रान्सफर कर दें आवेदन पत्र तथा शुल्क प्राप्त होने पर 15 से 20 दिन के अंदर आप के प्रमाण पत्र रजिस्ट्री या स्पीड पोस्ट से भेज दिये जायेगे यदि आवश्यक हुआ तो व्हाट्सएप या ईमेल से स्कैन कॉपी भेज दी जायेगी। (सम्पूर्ण शुल्क जमा होने पर) RMP रजिस्ट्रेशन ( अनिहरत ) अस्थायी – 10000 /- स्थायी 15000 ( दस वर्ष के लिए), 1000/- नवीनीकरण वर्षRMP डॉक्टर्स अभी तक भारत सरकार के वर्ष 1986 में दिये गये सर्कुलर के आधार पर प्रैक्टिस कर रहे है अभी तक कोई नया सरकुलर या आदेश सरकार द्वारा जारी नहीं किया गया है। मेडिकल प्रैक्टिश हेतु कोर्ट या शाशन से मान्य सिस्टम या कोर्स – 1- CMS (ALLOPATHY) IN 150 MEDICINES या CMSED दो वर्षीय कोर्स शुल्क 25 ,000/-+ REGISTRATION FEES- RS/ 10000 /- + OTHER CHARGES – 10000 /- TOTAL 45,000 नोट -44 दवाओ वाले कोर्सेज को जाँच अधिकारी मान्यता नही देते है क्यों ? * मूल संचालक ने कोर्स बंद कर दिया है अन्य संस्थाओ के पास कोर्स को सरक्षंण देने वाला कोई हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के वकीलों का ब्यूरो नहीं है। और न ही संचालक इतने सक्षम है कि किसी कानूनी बिंदु को फेस कर सके, प्रमाण पत्र जारी करने वाली अनेको संस्थाए प्रमाण पत्र मे अपना नाम पता तक नहीं देती है। जाँच के समय ताला बंद कर के भाग जाती है। 2-BAMS(Nat)- 4 YEAR COURSE FEE RS 50000/- + REGISTRATION FEES- RS/ 10000 /- + OTHER CHARGES – 20000 /- TOTAL 80,000 *इस संस्था से कोर्स पास छात्र / चिकित्सक यदि इसी संस्था से इंटर्नशिप करना चाहते है तो इंटर्नशिप शुल्क 12500 /- अलग से देय होगा। यदि आप अनुभवी चिकित्सक है , तो आपको किसी भी राज्य से कोई भी सरकारी प्रमाण पत्र नही मिलना है और आप के पास कोई दूसरा विकल्प भी नही है।जैसे 1 – न तो आपके इण्टर बायलॉजी में 90 % नम्बर है। 2- न ही तुम्हारे पास 50 – 60 लाख या 1 करोड़ रुपया है। 3- न ही साढे पाँच साल का समय है। 4-न ही रेगुलर पढाई कर सकते है। और 5 -सरकारी प्रमाण पत्र मिलना नही है। 6- तथा अपना कार्य भी नही छोड़ सकते है क्योकि पिछले कई वर्षो से प्रैक्टिस कर रहे है आपके परिवार का आर्थिक ढाँचा अब इसी पर निर्भर है। अतः हमारी संस्था से प्राप्त किया गया प्रशिक्षण या प्रमाण पत्र , माननीय सुप्रीम कोर्ट का निर्णय , सरकारी सर्कुलर , हमारी संस्था के लीगल एडवाइजर ( हाई कोर्ट / सुप्रीम कोर्ट के वकील ) द्धारा देय जाँच अधिकारी के नाम पत्र तथा जांच अधिकारी के प्रति आपकी शालीनता और आपका अच्छा व्यवहार ही आपकी प्रैक्टिस का ठोस विकल्प है/ नोट – हमारी संस्था जैसा देय मजबूत विकल्प देश मे किसी दूसरी संस्था के पास नही है और न ही उनके पास हाई कोर्ट / सुप्रीम कोर्ट लीगल एडवाइजर का ब्यूरो है। *हमारी संस्था का कैटेगराइजेशन अमेरिका की अन्तर्राष्ट्रीय इंटरनेशनल संस्था कैटेगराइजेशन इंस्टिट्यूट [CGFNS INTERNATIONAL Philadelfu P.A. – 17104-2657 USA (UNITED STATE OF AMERICA)] ने किया है। तथा संस्था के डायरेक्टर डॉ नरेश मिश्रा को अमेरिकन बॉयोग्राफिकल इंस्टिट्यूट द्वारा ‘ हॉल ऑफ़ फेम ‘ के लिए चयनित किया जा चुका है। तथा छठवे अन्तर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य चिकित्सा सम्मेलन में रूस (बेलारूस) के एम्बेसडर तथा कॉउन्सलर द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय मेडल एवार्ड दिया जा चुका है। अतः किसी भी संस्था से प्रमाण पत्र प्राप्त करने से पहले देख लें कि संस्था किराये के भवन में तो नहीं चल रही है तथा संस्था सरकार से रजिस्टर्ड है प्रमाण पत्रों में अपना पता दिया है या नहीं और यह भी देखे कि उसने अभी तक कितने वेरिफिकेशन सत्यापन भेजें है हमारी संस्था द्धारा भेजें गए सत्यापन इसी वेबसाइट में है। सत्यापन / verification वाले कॉलम में देखें।प्रमुख समाचार (सौजन्य से एन० डी ० टी०वी इण्डिया) दिनांक 25 फ़रवरी 2016 को केंद्रीय सूचना आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार को निर्देशित किया है कि मेडिकल कौंसिल ऑफ इण्डिया ( MCI ) के माध्यम से इण्डियन बोर्ड आफ अल्टरनेटिव मेडीसीन (कोलकता ) नामक संस्था , जो कानूनी वैधता न होने के बावजूद व अन्य अल्टरनेटिव संस्थाये MBBS की डिग्री अनक्वाली फाइड डॉक्टर्स को दे रही है। जिससे जनस्वास्थ्य को काफी खतरा है। इसे तत्काल प्रभाव से रोकने की कार्यवाही की जाये। नोट – 1- सभी अल्टरनेटिव संस्थानो को सूचित किया जाता है कि वह इस प्रकार के प्रशिक्षण प्रमाण पत्र निर्गत न करे और जिन चिकित्सको ने ऐसे प्रमाण पत्र प्राप्त किये है वह तुरंत उन्हें हटाकर नेचुरो पैथी (प्राकृतिक चिकित्सा में ) प्रशिक्षण प्राप्त करे और समाज की सेवा कर सम्मानित जीवन जिये। 2- हमारी संस्था द्धारा पैरा मेडिकल कोर्सेज जैसे DMLT /ANM तथा ALTERNATIVE MEDICINE में MBBS-(Alt) , MBBS-(Bio) डेसिग्नेशन के डिप्लोमा पाठयक्रमो का संचालन पिछले कई वर्षो से बंद है। हमारा उद्देश्य इण्डियन मेडिकल कॉउन्सिल एक्ट का उलंघन करना नही है और न ही इस एक्ट का विरोध कर अंनक्वालीफाइड डॉक्टर्स को बढ़ावा देना है , बल्कि जो चिकित्सक अनुभव द्धारा पिछले कई वर्षो से चिकित्सा कार्य कर रहे है। ऐसे डॉक्टर्स को विश्व स्वास्थ्य संग़ठन (W.H.O.) द्धारा प्राथमिक चिकित्सा के लिए मान्य औषधियों में प्रशिक्षण देना है इनके प्रायोगिक व व्यवहारिक ज्ञान की कमी में सुधार लाना है , जिससे जन सामान्य को प्राथमिक चिकित्सा की सेवाएं अच्छे ढंग से मिल सके तथा इनकी आजीवका और सम्मान की रक्षा हो सके। जब तक कि सरकार द्धारा इन्हे रजिस्ट्रेशन या प्रशिक्षण न दिया जाये या इनके सम्बन्ध में कोई स्पष्ट सर्व मान्य कानून न बनाया जाये। हमारे मिशन द्धारा प्राथमिक चिकित्सा की सेवाओ के लिए सीमित साधनो से किया जाने वाला छोटा सा प्रयास है जो इस दिशा में सरकार और समाज का सहयोगी बन सकता है। सरकार भी इस दिशा मे कार्य करने हेतु प्रयत्नशील है।   कोर्स करने पर या रजिस्ट्रेशन लेने पर हम क्या क्या भेजेंगे ? संस्था के गोल्डन होलोग्राम से सुसज्जित सभी प्रमाण पत्र व आवश्यक पेपर्स ( जिससे कोई संस्था हमारे नकली प्रमाण पत्र न जारी कर सके ) 1- मार्कसीट्स 2 – कोर्स सर्टिफिकेट 3-रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट 4 – आई कार्ड (परिचय पत्र ) और इन्टरनेट में डाल देंगे तथा कोर्ट आर्डर , गवर्मेंट सरर्कुलर तथा संस्था के हाईकोर्ट / सुप्रीम कोर्ट के लीगल एडवाइजर का संस्था के गोल्डन होलोग्राम से सर्टीफाइड जाँच अधिकारी के नाम पत्र जिसको पढ़ने के बाद जाँच अधिकारी महोदय आपके कार्य में हस्ताक्षेप नही करते है अधिकारी महोदय का सम्मान करे और सभ्यतापूर्ण आदर सहित वार्ता करे और अपने पेपर्स अधिकारी महोदय को दिखाये। आई कार्ड (परिचय पत्र का शुल्क 500/- ) और इन्टरनेट में नाम डालने का 500/- अलग से देय होगा फोटो सहित 1500/-